Khamosh Lab Hain Jhuki Hain Palken lyrics in Hindi

0
ख़ामोश लब हैं झुकी हैं पलकें दिलों में उल्फत नई-नई हैअभी तक़ल्लुफ़ है गुफ़्तगू में अभी मोहब्बत नई-नई हैख़ामोश लब हैं झुकी हैं पलकें दिलों में उल्फत नई-नई है

यह समय एक रुठा उपन्यास है.. साथ हंसने लगे तो हंसी कम पड़ी..तुम ना...

0
यह कविता हिंदी के जाने माने युवा कवि अमन अक्षर जी द्वारा लिखी गई है kavita कविता यह समय एक रुठा...

शायरी ज़रा मुस्करा कर सनम बोलते हैं… एक जंजाल मेरे जी का है.. शायरी...

0
ज़रा मुस्करा कर सनम बोलते हैं। ... वाहिद अली वाहिद कविता वाहिद अली वाहिद ज़रा मुस्करा कर सनम बोलते हैं। ...

भगवान राम पर सुंदर कविता bhav suchiya bahut hai bhav sirf ram hai भाव...

0
भाव सूचियाँ बहुत हैं भाव सिर्फ राम हैं सारा जग है प्रेरणा प्रभाव सिर्फ...